छुआरे के दूध के राज सुनकर आप चौक जाओगे

छुआरे के दूध के राज सुनकर आप चौक जाओगे

आप सब ड्राई फ्रूट्स के बारे में तो जानते ही हैं। ये हमारी सेहत के लिए बहुत अधिक फायदेमंद होते हैं। लेकिन इनमें से छुआरा एक ऐसा ड्राई फ्रूट्स है जो अकेले ही आपके शरीर को उर्जा देता है। इससे शरीर बाहरी और आंतरिक तौर से मजबूत बनता है, ऐसा इसलिए क्योंकि छुआरा अपने आप में कई गुण लिए हुए है। यदि आप दूध में छुआरों को उबाल कर उसे खाते हो और साथ ही उस दूध को पीते हो तो इससे आपको दोगुने फायदे मिलते है।

छुआरों के फायदे

छुआरों के अंदर मौजूद गुणों की बात की जाए तो इसमें फाइबर, मैग्नीशियम, मिनरल्स के अलावा कैलिश्यम और जिंक होता है। ​वहीं दूध अपने आप में पौष्टिक होता है। जब आप छुआरों को दूध के साथ उबालते हो और उसे पीते व खाते हो तो इससे आपकी कई बीमारियां खत्म हो जाती हैं।

Advertisement

वजन बढ़ाने में सहायक

छुआरे के दूध के राज सुनकर आप चौक जाओगे

वे लोग जो शरीर की कमजोरी की वजह से दुबले पतले हैं वे दूध में उबले हुए छुआरों का सेवन करें। इससे वजन आसानी से बढ़ने लगता है। इसके लिए चार-पांच छुहारे एक गिलास दूध में उबाल कर ठण्डा कर लें। छुहारे चबा-चबा कर खा लें और दूध पी लें। इसे सुबह और रात में सोने से पहले ले सकते हैं। तीन-चार माह तक इस प्रकार करने से शरीर पुष्ट और गठीला होता है।

बालों के लिए

छुआरे के दूध के राज सुनकर आप चौक जाओगे

Advertisement

यदि आप दो मुहें बालों  से परेशान हैं तो आप जरूर अपनी डायट में छुआरों को शामिल करें, क्योंकि इनमें विटामिन बी 5 होता है। जिससे बालों को अंदर से पोषण मिलता है और इससे दो मुहें बालों की समस्या तो दूर होती ही है, साथ ही इससे बाल घने और लंबे होते हैं। इसके अलावा बालों की झड़ने की दिक्कत भी दूर हो जाती है।

शुगर लेवल पर नियंत्रण

छुआरे के दूध के राज सुनकर आप चौक जाओगे

डायबिटीज की समस्या में शरीर में शुगर के स्तर में उतार चढ़ाव होने लगता है। ऐसे में इंसान को नियमित दूध में उबले छुआरों का सेवन करना चाहिए, क्योंकि छुआरे में मौजूद मैग्नीशियम मधुमेह के खतरे को भी धीरे-धीरे खत्म करने लगता है।

Advertisement

बिस्तर पर पेशाब 

छुआरे के दूध के राज सुनकर आप चौक जाओगे

बुढ़ापे में पेशाब बार-बार आता हो तो दिन में दो छुहारे खाने से लाभ होगा। छुहारे खाने से पेशाब का रोग दूर होता है। छुहारे वाला दूध भी लाभकारी है, यदि बच्चा बिस्तर पर पेशाब करता हो तो उसे भी रात को छुहारे वाला दूध पिलाएं। यह शक्ति पहुंचाते हैं।

रक्तचाप

छुआरे के दूध के राज सुनकर आप चौक जाओगे

Advertisement

कम रक्तचाप वाले रोगी 3-4 छुआरों को गर्म पानी में धोकर गुठली निकाल दें। इन्हें गाय के गर्म दूध के साथ उबाल लें। उबले हुए दूध को सुबह-शाम पीएं। कुछ ही दिनों में कम रक्तचाप से छुटकारा मिल जाएगा।

दिल के लिए

छुआरे के दूध के राज सुनकर आप चौक जाओगे

दिमागी रूप से अधिक टेंशन लेना हमारे शरीर के कोलेस्ट्रॉल के स्तर को बढ़ा देती है जिससे दिल से सबंधित बीमारियां होने लगती है। छुआरों में मौजूद पोटैशियम हमारे शरीर के बढ़े हुए कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम कर देता है जिससे हम दिल की बीमारियों से बचे रहते हैं।

Advertisement

दांतों के लिए

छुआरे के दूध के राज सुनकर आप चौक जाओगे

बहुत ही अधिक फायदेमंद है छुआरे हमारे दांतों की प्राब्लम्स को दूर करने में। दांतों की कमजोरी हो या फिर वे सड़ रहे हों तो आप दूध में खजूर डालकर उसका सेवन करें। इससे दांतों को मजबूती मिलती है। और वे सड़ने से भी बचते हैं।

हड्डियों के लिए

दूध और छुआरे दोनों में कैल्शियम होता है। हड्डियों की कमजोरी का मुख्य कारण भी शरीर में कैल्शियम होता है। ऐसे में जब आप दूध में भिगोए गए छुआरे का सेवन करते हो तो इससे हड्डियों को ताकत मिलती है और वे मजबूत बनती हैं।

Advertisement

कोलन कैंसर

पेट के कैंसर को कोलन कैंसर कहा जाता है। जो उम्र के बढ़ने और गलत तरह के खान पान के सेवन से होता है। इस समस्या से बचने के लिए आप जरूर दूध में भीगे छुआरों का सेवन करें। इससे पेट साफ रहता है और इस गंभीर बीमारी का खतरा भी कम हो जाता है।

मासिक धर्म में सहायक

छुआरे के दूध के राज सुनकर आप चौक जाओगे

सर्दी के दिनों में कई महिलाओं को मासिक धर्म से जुड़ी समसयाएं भी होती हैं, इसके लिए छुहारे फायदेमंद है। छुहारे खाने से मासिक धर्म खुलकर आता है और कमर दर्द में भी लाभ होता है।

Advertisement

कब्ज  में लाभकारी 

छुआरे के दूध के राज सुनकर आप चौक जाओगे

सुबह-शाम तीन छुहारे खाकर गर्म पानी पीने से कब्ज दूर होती है। छुआरे का अचार भोजन के साथ खाया जाए तो अजीर्ण रोग नहीं होता तथा मुंह का स्वाद भी ठीक रहता है। छुआरे का अचार बनाने की विधि थोड़ी कठिन है, इसलिए बना-बनाया अचार ही ले लेना चाहिए।

छुहारे के नुकसान

कम मात्रा में सेवन करने से छुहारे लाभदायक होते है, परन्तु यदि इनका सेवन अधिक मात्रा में किया जाए तो ये हानिकारक भी हो सकते है

Advertisement

यह पचने में भारी है और इसके पाचन में समय लगता है।

यह वज़न को बढ़ाता है इसलिए यदि वज़न पहले से ही बढ़ा है तो इसका सेवन न करें।

 इसे सूखा खाने की अपेक्षा दूध में पका कर खाना चाहिए।

Advertisement

सर्दियों के मौसम में इसका सेवन अधिक अनुकूल है।

यह मीठा होता है इसलिए यदि रक्तशर्करा का स्तर अधिक है तो इसका सेवन न करें।

यदि पाचन शक्ति कमज़ोर है तो इसके सेवन से शरीर को अधिक लाभ नहीं हो पायेगा।

Advertisement