जिद्दी बच्चे को समझदार बनाने के लिए अपनाएं ये 7 तरीके

सबसे पहले तो ये बात अपने दिमाग से निकाल दीजिये कि आप का बच्चा ही जिद्दी है, बच्चे सारे एक जैसे ही होते हैं। कई बच्चे रो कर अपनी बात मनवाते है तो कई प्यार से अपनी बात मनवा लेते हैं। जो बच्चे रो कर या फिर बहुत हगांमा कर के अपनी बात को पूरा करते है उन्हें जिद्दी बच्चे कहते हैं।

क्यों होते है बच्चे जिद्दी

बच्चों को सुधारने के लिए हमें अपने में ही कुछ सुधार करने होंगे। हमें बच्चे को समझना होगा कि ये किस समय पर जिद्द करता है या रोता है। बच्चो को नहीं पता होता कि हमारे लिए क्या जरूरी है क्या नहीं, क्या अच्छा है क्या बुरा है। ये बात हमें समझानी पड़ती है। इसके लिए बच्चे को समझना जरूरी है। हम कुछ प्रयास कर सकते हैं जैसे :

Advertisement

 

दूसरों के सामने बुराई न करें 

कई बार ऐसा होता है कि बच्चा बहुत रोता है कि मम्मी मुझे ये चाहिए और हम उसको दे भी देते हैं, पर बच्चे के सामने ही किसी तीसरे को ये मत बताइये कि आज इसने ये-ये किया और मुझे फिर इसकी बात माननी ही पड़ी। इससे बच्चे को समझ आ जाता है कि मै रो कर अपनी बात मनवा सकता हूँ।

Advertisement

 

लोग क्या कहेंगे

हम कुछ काम करते है तो हमारे दिमाग में सबसे पहले यही बात आएगी कि लोग क्या कहेंगे। बस यही बात हमें बच्चो को बतानी है कि देखो अगर आप इतनी जिद्द करोगे या रोओगे तो लोग बोलेगें कि ये तो बहुत गंदा बच्चा है।

Advertisement

 

बच्चों के साथ जबर्दस्ती बिल्कुल ना करें

जब आप अपने बच्चों के साथ किसी भी चीज को लेकर जबर्दस्ती करते हैं तो वे स्वभाव से विद्रोही होते चले जाते हैं. तत्कालिक तौर पर तो कई बार जबर्दस्ती से आपको समाधान तो मिल जाता है लेकिन आगे के लिए ये खतरनाक होता चला जाता है. बच्चों से जबरन कुछ करवाने से वे वही कुछ करने लगते हैं जिनसे उन्हें मना किया जाता है. आप अपने बच्चों से कनेक्ट होने की कोशिश करें. 

Advertisement

 

सकारात्मक(Positive) बनें

जब बच्चें रो रहे होते है या फिर कुछ और शरारत कर रहे होते है तो आप उनको मनाओ मत कि आप चुप हो जाओ। उनसे बोलो की ओर रो, आज तो कम रोए थोड़ा ओर ले। फिर बच्चे को लगेगा कि मम्मी तो नहीं मनाए गी, तो वो अपने आप ही चुप हो जाएगा।

 

Advertisement

Mind Chnage करना

बच्चे जब जिद्द करने लगे या रोने लगे कि मुझे चिप्स खाने है या और किसी बात के लिए रो रहे होते है तो आप उनको समझाओ कि अगर आप ये काम करो गए न तो मम्मी आप को ये चीज देंगी। अगर आप को लगता है कि आप का बच्चा एक पर्टिकुलर टाइम पर ही जिद्द करता हैं जैसे शाम के समय ही जिद्द करता है तो आप उसे उस समय पर किसी ओर काम में उलझा दे जैसे कि शाम के समय आप उसे थोड़ा घुमाने ले जाए या साइक्लिंग करवाने लगे। उसे उस समय पर बिजी रखो।

 

Advertisement

टोका टाकी कम करो

अगर हम बच्चे को टोकते रहेंगे तो बच्चे को लगेगा कि हर बात पर टोक रहे है मैं करु तो करु क्या। बच्चे को टोको भी पर साथ में ये भी बताओ कि आप ऐसे न करके ऐसे करो जैसे बच्चा दिवार पर लिख रहा है तो आप उसे मना करो और साथ में बताओ कि यहां कॉपी पर लिखो या ब्लैक बोर्ड पर लिखो।

 

Advertisement

सरप्राइज

समय-समय पर बच्चो को सरप्राइज देते रहो। उनको समझाओ कि अगर आप अच्छे बच्चे बन कर रहोगे तो आप को सरप्राइज मिलेगा।

 

Advertisement

इस प्रकार हम बच्चों को थोड़ा बहुत कंट्रोल में कर सकते हैं। अब बच्चें हैं तो कुछ तो शरारत करेंगे ही, ये मत समझो कि हमारा बच्चा ही शरारती है।