बच्चों के उज्ज्वल भविष्य के लिए रखें इन बातों का ध्यान

हर माँ-बाप बचपन से ही अपने बच्चे की सफलता को पक्का कर लेना चाहता है। जिसके लिए वे हर सम्भव कोशिश भी करते हैं। ये बात तो आप भी मानते होंगे कि बचपन की सीख जीवन भर साथ रहती है। बचपन की यादें और बातें हमेशा साथ बेनी रहती है।

ऐसे में माँ-बाप को चाहिए कि वे कम उम्र में ही बच्चों को उन बातों की आदत डाले, जो उनके आने वाले कल के लिए जरूरी हैं। ये कुछ ऐसी बातें जो बच्चों को सिखाई जानी चाहिए।

Advertisement

 

मोबाईल को दुश्मन समझे

आजकल बच्चें सारा दिन मोबाईल में घुसे रहते हैं और तरह-तरह की एप्लिकेशन का इस्तेमाल करते हैं, जिनका बड़ों को भी नहीं पता होता। हाल ही में ब्लू व्हेल नाम के एक गेम ने कई बच्चों की जान ले ली। बच्चों के लिए मोबाईल किसी लत से कम नहीं हैं। इससे वक्त और आँखे दोनों खराब होती हैं।

Advertisement

साझा(Share) करने की आदत डालें

बच्चों के साथ हर रोज हो रहे अपराधों के प्रति सावधानी बरतते हुए उनसे वादा लें कि वे स्कूल, कॉलेज या दोस्तों की सारी बातें आप के साथ शेयर करें। बच्चों की उपेक्षा न करके उन के साथ टाइम स्पेंड करें और उनको समझाए कि आप उनके दोस्त हो और अपने दोस्त से कुछ भी छिपाना अच्छी बात नहीं होती। उनको बताए की क्या उनके लिए अच्छा हैं और क्या बुरा हैं। इस तरह आप अपने बच्चों के साथ किसी तरह की अनहोनी होने से बचा सकते हैं।

 

टीवी देखना कम करवाए

बच्चें सारा दिन टीवी पर कार्टून या फिल्में देखते रहते हैं। इससे उनकी आउटडोर एक्टिविटी कम होने के कारण उनके शरीर का विकास भी ठीक ढंग से नहीं हो पाता। इस बाल दिवस बच्चों को प्रोत्साहित करें कि टीवी देखने की बजाय खेलकूद की तरफ रूचि बढ़ाए।

Advertisement

अनजान लोगों से दूर रहना

कुछ बच्चें अनजान लोगों से भी बड़ी जल्दी घुलमिल जाते हैं। आजकल बढ़ रहें अपराधों को देखते हुए बच्चों को समझाए कि अनजान लोगों से बातें न करें। उन्हें बताए कि गार्ड, माली, मेड, ड्राइवर इन सभी से भी उचित दूरी बनाकर रखे।

Advertisement

समय की कीमत

बचपन से ही बच्चों को समय की कीमत के बारे में बताना चाहिए। समय पर खाना-पीना, खेलना-कूदना, सोना, पढ़ना आदि के बारे में बताना चाहिए। बच्चों को न केवल अपने समय की कीमत समझाओ बल्कि दूसरों के समय की भी इज्जत करने की सीख देनी चाहिए।

अपनी चीजों का ध्यान रखना

देखा जाता है कि बच्चे अपने कपड़े, खिलौने, किताबें आदि इधर-उधर बिखेर देते हैं लेकिन इस आदत को बचपन में सुधारने की जरूरत है। बच्चों को सिखाए कि अपनी चीजों को संभाल कर रखें और उनकी सफाई करें। यह आदत आगे चल कर उनके जीवन में बहुत काम आएगी।

Advertisement

मेहनत की आदत

जब बच्चों को ज्यादा होमवर्क मिल जाता है तो घर के बड़े उनकी मदद कर देते हैं। हालांकि ये बहुत गलत बात है। बच्चों को शुरू से ही मेहनत की आदत डालनी चाहिए, ताकि आगे चल कर वे कतराए नहीं।

 

Advertisement

धैर्य रखना

बच्चे किसी खिलौने या फिर किसी दूसरे सामान के लिए जिद करते हैं और उन्हें शांत करने के लिए हम वो जिद पूरी भी कर देते है, पर हर बात पर ऐसा नहीं करना चाहिए। कुछ चीजों के लिए मना भी करना चाहिए। इससे बच्चे में धैर्य की भावना आती है।

Advertisement