सौंफ एक फायदे अनेक (Benefit of Fennel Seeds)

सौंफ Saunf  Fennel Seeds ) हर घर में होती है। इसकी मीठी खुशबू और स्वाद सभी को बहुत अच्छे लगते है। खाना खाने के बाद थोड़ी सी सौंफ और मिश्री मुँह में रखकर चबाने का अलग ही मजा है।

इससे मुँह की बदबू तो जाती ही है दाँत भी साफ हो जाते है। सौंफ खाने के फायदे सिर्फ ये ही नहीं है। छोटी सी यह सौंफ कितनी गुणकारी हो सकती ये जानकर आश्चर्य होता है। हेल्थ के लिए इससे सस्ता , सुलभ और स्वादिष्ट नुस्खा शायद ही कोई होगा।

बारीक सौंफ Barik saunf और मोटी सौंफ Moti Saunf ये दो प्रकार की सौंफ बाजार में मिलती है। इनमे बारीक सौंफ चबाने के लिए अच्छी होती ही और मोटी सौंफ अचार बनाने , सब्जी बनाने के काम आती है। सौंफ में औषधीय गुण होते है। यह वात , पित्त और कफ तीनो प्रकार के दोष मिटाती है।

सौंफ में विटामिन सी की जबर्दस्त मात्रा है और इसमें आवश्यक खनिज भी हैं जैसे कैल्शियम, सोडियम, फॉस्फोरस, आयरन और पोटेशियम।

 

 

  • बादाम, सौंफ और मिश्री को समान मात्रा में पीस लें. रोज रात को खाना खाने के बाद इसका सेवन करने से स्मरण शक्त‍ि बढ़ती है।

  • सौंफ का नियमित सेवन आंखों की ज्योति को तेज करता है। 5-6 ग्राम सौंफ रोज लेने से लीवर और आंखों की ज्योति ठीक रहती है।

 

  • पेट की बीमारियों के लिए यह बहुत प्रभावी दवा है जैसे मरोड़, दर्द और गैस्ट्रिक डिस्ऑर्डर के लिए।

 

  • अगर आपके मुंह से दुर्गंध आती है तो नियमित रूप से दिन में तीन से चार बार आधा चम्मच सौंफ चबाएं. ऐसा करने से मुंह से बदबू आना बंद हो जाएगी।

 

  • अगर पीरियड्स अनियमित है तो भी आप सौंफ का सेवन कर सकती हैं. गुण के साथ इसके सेवन से फायदा होगा।

 

  • यह शिशुओं के पेट और उनके पेट के अफारे को दूर करने में बहुत उपयोगी है।

 

  • सौंफ के पावडर को शकर के साथ बराबर मिलाकर लेने से हाथों और पैरों की जलन दूर होती है। भोजन के बाद 10 ग्राम सौंफ लेनी चाहिए।

  • एक चम्मच सौंफ को एक कप पानी में उबलने दें और 20 मिनट तक इसे ठंडा होने दें। इससे शिशु के कॉलिक का उपचार होने में मदद मिलती है। शिशु को एक या दो चम्मच से ज्यादा यह घोल नहीं देना चाहिए।

 

  • पेट सौंफ खाने से खून साफ होता है और त्वचा में चमक आती है।

 

  • सौंफ की पत्तियों में खांसी संबंधी परेशानियां जैसे दमा व ब्रोन्काइटिस को दूर रखने की भी क्षमता होती है।

  • सौंफ को अंजीर के साथ खाएं और खांसी व ब्रोन्काइटिस को दूर भगाएं। कफ और खांसी के इलाज के लिए सौंफ खाना उपयोगी है।

 

  • सूखी, रोस्टेड और कच्ची सौंफ को बराबर मात्रा में मिला लें। इसे खाने के बाद खाएं। इससे पाचन क्रिया बेहतर रहेगी और आप हल्का महसूस करेंगे।

 

  • अगर आप चाहते हैं कि आपका कोलेस्ट्रॉल स्तर न बढ़े तो खाने के लगभग 30 मिनट बाद एक चम्मच सौंफ खा लें। सौंफ कोलेस्ट्रॉल के स्तर को नियंत्रण में रखती है।

 

  • सिंकी हुई सौंफ मिश्री के साथ खाने से आवाज तो मधुर होती ही है यह खांसी भी भगाती है।