ग्रीन टी के फायदे और नुकसान (Green Tea-Benefit and Disadvantage of Green Tea)

यह तो हम जानते ही हैं कि ग्रीन टी सेहत के लिए बेहद फायदेमंद है। लेकिन, वैज्ञानिकों ने इसके नए गुण के बारे में भी पता लगाया है। वैज्ञानिकों के मुताबिक ग्रीन टी दिमाग की सेहत भी दुरुस्‍त करने में मदद करती है। वैज्ञानिकों ने इसमें ऐसे रासायनिक तत्व पाए हैं, जो मस्तिष्क की कोशिकाओं के निर्माण के साथ ही याद्दाश्‍त में सुधार भी करती है। इसके साथ ही हरी चाय पीने से आपकी सीखने की क्षमता में भी सुधार होता है।

ग्रीन टी को इसकी कम कैफीन सामग्री के कारण, कॉफी और अन्य प्रकार की चाय जैसी सामान्य पेय पदार्थों के लिए एक स्वस्थ विकल्प माना जाता है। यह एंटीऑक्सिडेंट और पोषक तत्वों के साथ भरी हुई है जो शरीर पर बेहतर मस्तिष्क समारोह, वसा हानि, और कैंसर के कम जोखिम सहित शरीर पर शक्तिशाली प्रभाव डालते है।

 

यहाँ कुछ आश्चर्यजनक लाभों की सूची है:-

  • कोलेस्ट्रॉल को कम करने के लिए: 

ग्रीन टी में मौजूद टैनिन शरीर में एलडीएल कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करने में मदद करते हैं। जबकि कैटिचिन पेट में कोलेस्ट्रॉल अवशोषण कम करता है, इस प्रकार उच्च कोलेस्ट्रॉल की समस्या को कम करने में मदद करता है।

  • वजन घटाने के लिए: 

जंगी भोजन और पेय के लिए तरस के साथ एक गतिहीन जीवन शैली, अक्सर कई मोटापे से संबंधित जटिलताओं जैसे हृदय रोग, स्लीप एपनिया, मधुमेह, उच्च रक्तचाप, आदि का कारण बनता है। ग्रीन टी में पाए जाने वाले पॉलीफेनॉल वसा वाले ऑक्सीकरण के स्तर को और आपका शरीर में भोजन को कैलोरी में परिवर्तित करने के दर को तेज करते हैं। 

  • मधुमेह के लिए: 

ग्रीन टी टाइप II मधुमेह के प्रबंधन में मदद करता है। इसमें मौजूद प्राकृतिक एंटीऑक्सीडेंट अल्फा- ग्लूकोसिडेज नामक एंजाइम के स्राव को रोकते हैं, जो बदले में रक्त प्रवाह में ग्लूकोज के अवशोषण को धीमा कर देते हैं। ग्रीन टी स्वस्थ व्यक्तियों में ग्लूकोज सहनशीलता को बेहतर बनाने में भी मदद कर सकती हैं।

  • दांतों के लिए: 

ग्रीन टी में कैटिचिन बैक्टीरिया को भी मारते हैं और इन्फ्लूएंजा वायरस जैसे वायरस को रोक सकते हैं, और संभावित रूप से आपके संक्रमण के जोखिम को कम कर सकते हैं। वे स्ट्रेप्टोकोकस म्युटान्स के विकास को बाधित करने में भी मदद करते हैं। अपने मुंह में जीवाणु और वायरस से लड़कर, ग्रीन टी सांस की बदबू से छुटकारा पाने में भी मदद करती है।

  • सुंदर त्वचा के लिए: 

ग्रीन टी एंटीऑक्सिडेंट में समृद्ध है और इसमे विरोधी भड़काऊ गतिविधियां है। इसलिए ग्रीन टी सुंदर त्वचा को बनाए रखने और झुर्रियों और बुढ़ापे के लक्षणों जैसी समस्याओं से लड़ने में भी मदद करती है।

  • तनाव और अवसाद से राहत:

कैफीन मस्तिष्क समारोह के विभिन्न पहलुओं को बेहतर बनाने में मदद करता है, जिसमें सुधारित मनोदशा, सतर्कता, प्रतिक्रिया समय और स्मृति शामिल है। ग्रीन टी में एल-थेनाइन भी शामिल है, जो अवरोधक न्यूरोट्रांसमीटर जी।ए।बी।ए की गतिविधि को बढ़ाता है, जो चिंता-विरोधी प्रभाव डालता है। यह मस्तिष्क में डोपामाइन और अल्फा तरंगों का उत्पादन भी बढ़ाता है।

  • अल्जाइमर और पार्किंसंस का इलाज: 

पॉलीफेनोल सीखने और स्मृति को नियंत्रित करने वाले मस्तिष्क के कुछ हिस्सों को बनाए रखने में भी मदद करता है। वे मस्तिष्क में कम किया हुए एसिटाइलकोलाइन की प्रक्रिया को धीमा करते हैं और मस्तिष्क में सेल की क्षति को भी रोकते हैं।

  • कैंसर के लिए: 

ग्रीन टी शक्तिशाली एंटीऑक्सिडेंट का एक उत्कृष्ट स्रोत है, जो कि विभिन्न प्रकार के कैंसर का खतरा कम करने में मदद करता है। ग्रीन टी में मौजूद पॉलीफेनॉल वी।ए।जी।एफ और एच।जी।एफ प्रोटीन के विकास को रोकते हैं, जो ट्यूमर कोशिका वृद्धि को बढ़ावा देने के लिए जाने जातें हैं। ग्रीन टी कार्सिनोजेन्स और पराबैंगनी प्रकाश के कैंसर को बढ़ावा देने के कार्यों को रोकने में भी मदद करता है।

इस प्रकार ग्रीन टी दुनिया में सबसे स्वास्थ्य पेय में से एक है:-

ग्रीन टी के फायदे पाने के लिए जरूरी है कि आप ग्रीन टी सही समय पर और सही मात्रा में लें।अगर आपको भी ग्रीन टी के इस्तेमाल का सही समय और तरीका पता नहीं है तो ये टिप्स आपकी मदद करेंगे।

आमतौर पर लोग ऐसी गलती करते हैं। इसके साथ ही ग्रीन टी पीने का एक सही समय भी तय होना चाहिए, वरना ये नुकसानदेह भी हो सकता है। ग्रीन टी में कैफीन और टेनिन्स पाए जाते हैं, जो गैस्ट्रिक जूस को डाइल्यूट करके पेट को नुकसान पहुंचा सकते हैं। इसके बहुत अधि‍क इस्तेमाल से चक्कर आने, उल्टी आने और गैस होने जैसी प्रॉब्लम हो सकती हैं।

  • खाने के तुरंत बाद ग्रीन टी पीनाखतरनाक हो सकता है।
  • ग्रीन टी को शहद के साथ मिलाकर पीना फायदेमंद रहेगा।
  • एक दिन में दो या तीन कप ये ज्यादा ग्रीन टी पीना खतरनाक हो सकता है। 
  • खाली पेट कभी भी ग्रीन टी न पिएं।
  • खाना खाने से एक या दो घंटे पहले ही ग्रीन टी पी लें।
  • कुछ लोग ग्रीन टी में दूध और चीनी मिलाकर पीते हैं। ग्रीन टी में चीनी और दूध मिलाने से परहेज करें।